in

मोटापा कम करने का सबसे बेहतर इलाज

दोस्तों जैसा कि हम आज कल देखते हैं कि लोगों की रोजमर्रा की जिंदगी काफी ज्यादा व्यस्त हो गई है पूर्णविराम ऐसे में लोग अपने खानपान पर भी ठीक से ध्यान नहीं दे पाते और अपनी पूरी दिनचर्या को ही बिगाड़ देते हैं। दिनचर्या बिगड़ने के कारण कई सारी बीमारियां शरीर के अंदर घर कर जाती है। उन्हें बीमारियों में से एक है मोटापा। जी हां दोस्तों आज के समय में जब हम देखते हैं सारी सुख सुविधाएं इंसान के पास मौजूद है इसलिए उसको किसी भी चीज को हासिल करने के लिए ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ती बल्कि जगह पर बैठे-बैठे ही उसे सारी सुविधाएं मिल जाती है। ऐसे में स्वाभाविक रूप से मोटापा शरीर के ऊपर चढ़ने लगता है। लेकिन यही मोटापा आगे चलकर हमारे जान का दुश्मन बन जाता है।

वैसे तो मोटापे को कम करने के लिए कई सारे डॉक्टर अलग-अलग सलाह देते हैं लेकिन कोई भी डॉक्टर आपको बिना पैसे लिए सलाह नहीं देगा। सलाह देगा भी तो बाद में आपको अलग-अलग प्रकार की दवाइयां लेने की सलाह देगा जिस पर पैसे खर्च करने पड़ेंगे। लेकिन इस लेख में हम आपको मोटापा कम करने के लिए बिल्कुल जीरो खर्च और घर बैठे ही उपाय बताने जा रहे हैं। दोस्तों मोटापा कम करने के लिए सबसे पहले तो आपको अपने डाइट पर ध्यान देना होगा। अगर आप सोच रहे हैं कि कम खाना खाने से मोटापा कम होगा तो ऐसा बिल्कुल नहीं है बल्कि सही खाना खाने से मोटापा कम होगा। केवल खाने पर ध्यान देने से ही नहीं बल्कि आपको रोजाना अपनी जीवन शैली में व्यायाम और योग को भी शामिल कर लेना चाहिए।

सूर्य नमस्कार

दोस्तों सूर्य नमस्कार एकमात्र ऐसा आसन है जिसे आसनों का महाराजा कहा जाता है। जी हां दोस्तों इस आसन को आसनों का महाराजा इसलिए कहा जाता है क्योंकि यही एकमात्र आसन है जिसमें शरीर के प्रत्येक अवयव का व्यायाम होता है। लेकिन सूर्य नमस्कार आपको 12 पोजीशन वाला करना है। ध्यान रखें आपको 12 पोजीशन वाला सूर्य नमस्कार ही बीमारियों से राहत दिला सकता है। सूर्य नमस्कार करने से आपके शरीर में कई सारी अद्भुत शक्तियां उत्पन्न होती है। साथ ही साथ आपको आयु प्रज्ञा बल वीर्य और तेज भी प्रदान होता है। सूर्य नमस्कार करने का सबसे बड़ा फायदा यही है कि आपका शरीर फ्लैक्सिबल हो जाता है। जिसके कारण मोटापा भी धीरे-धीरे घटने लगता है।

पैर की उंगलियों से लेकर सिर तक सभी अवयवों का व्यायाम सूर्य नमस्कार में होता है। आपके शरीर में जितने भी जॉइंट है उन सारे जॉइंट की हलचल सूर्य नमस्कार करने से होती है। सूर्य नमस्कार करने से शरीर में एक अलग ही उर्जा का संचार होता है। सूर्य नमस्कार करने से कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्या भी दूर हो जाती है। सूर्य नमस्कार करने से हड्डियां मजबूत होती है और पाचन तंत्र भी सुचारू रूप से चलने लगता है। अगर आपको कब्ज की शिकायत है तो आपको रोजाना कम से कम 10 सूर्य नमस्कार से तो शुरुआत करनी ही चाहिए। ध्यान रहे कि सूर्य नमस्कार करते समय आपको पूरा ध्यान पूरे नमस्कार पर केंद्रित करना चाहिए।

सूर्य नमस्कार की हर स्थिति को सही तरीके से करना चाहिए। सूर्य नमस्कार में प्रमुख रूप से पहला आसन ताड़ासन होता है। ताड़ासन से आपके शरीर को एक खींचाव् मिलता है जिससे आपके मसल्स खुलने लगते हैं। उसके बाद अगला आसन उत्तानासन होता है जिससे आप का पाचन तंत्र सुधरता है। उत्तानासन के बाद आपको एकपाद प्रसरणासन करना पड़ता है जिसके कारण पेट और पीठ दोनों भी सही सलामत रहते हैं। इसके बाद चतुरंग दंडासन की स्थिति होती है। इस स्थिति में बॉडी के केवल 4 अब यानी दो हाथ और दो पैर ही जमीन से टिके हुए होते हैं और शरीर दंडासन की भूमिका में रहता है जिससे पेट की मसल्स मजबूत होती है। चतुरंग दंडासन के बाद भुजंगासन किया जाता है और भुजंगासन के बाद पर्वतासन किया जाता है। अगले आसन में ठीक इसके विपरीत किया जाता है और नमस्कार की स्थिति में खड़ा रहना पड़ता है।

सूर्य नमस्कार के यहां सारे व्यायाम आपके शरीर को कई प्रकार के लाभ पहुंचा सकते हैं। जैसा कि हमने पहले ही बताया कि आयु प्रज्ञा बल वीर्य और तेज बढ़ाने के लिए सूर्य नमस्कार एक सबसे बेहतर आसन है और साथ ही साथ मोटापा कम करने के लिए भी इससे बेहतर कोई अन्य आसान नहीं है।

Avatar

Written by Team Bharatiya News

Editorial Team, Bharatiya News

नई साइकिल के साथ महिला ने किया कुछ ऐसा कि आईपीएस अधिकारी ने शेयर कर दी फोटो

योग करते समय यह 6 गलतियां बिल्कुल भी नहीं करनी चाहिए